शनिवार, फ़रवरी 19, 2011

***मीर पुर में आज तिरंगा फहरा दो, लहरा दो***

मीर पुर में आज तिरंगा फहरा दो, लहरा दो,
बंगलाई चीतों को, धूल चटा दो, आज हरा दो..........

हम जीतना सीख गये हैं, पिछली हार से लेके सबक,
वो हार बस इतेफाक थी, ये समझा दो, तुम बतला दो.......

सचिन फिर से मारो शतक, धोनी धुन डालो जी,
सहवाग तुम चौके चक्के, रन बरसा दो, सबको हिला दो............

उस एक हार के चलते तुम, विश्व कप से बाहर हुए,
उस एक हार की कसक भुला दो, जीत दिला दो..........

शानदार जीत से तुम, शहनशाही आगाज करो,
जहीर, भज्जी बाल की धार दिखा दो, विकेट गिरा दो.............